Salary Hike: संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों की तरह मिलेगी सुविधा, वेतन-भत्ते में होगी बढ़ोतरी, ग्रेच्युटी का लाभ

संविदा कर्मचारियों को मिलेगी राहत: कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। संविदा कर्मचारियों को अब नियमित कर्मचारियों की तरह लाभ मिलेंगे। इसके लिए संविधान नीति 2023 लागू कर दी गई है, जो संविदा कर्मचारियों के वेतन और भत्तों में वृद्धि करेगी। इस नीति के तहत संविदा कर्मचारियों का नियमितीकरण भी किया जाएगा, जिससे उन्हें स्थायी रूप से रोजगार की सुरक्षा मिलेगी।

नियमित कर्मचारियों की तरह सुविधाएं

प्रदेश की बिजली कंपनियों में काम कर रहे संविदा कर्मचारियों को इस नई नीति से बड़ी राहत मिली है। ऊर्जा विभाग में संविधान नीति 2023 लागू की गई है, जिससे संविदा कर्मचारियों को भी नियमित कर्मचारियों के समान सुविधाएं मिलेंगी। इस नीति के तहत संविदा कर्मचारियों को मूल वेतन का 100% प्रदान किया जाएगा, जो पहले 90% था।

jhakrhand majdoor salary increases by 30%

वेतन में बढ़ोतरी

ऊर्जा मंत्री के अनुसार, नई नीति में संविदा कर्मचारियों का वेतन नियमित कर्मचारियों के समान किया जाएगा। इस बदलाव के तहत संविदा कर्मचारियों को उनके मूल वेतन का 100% दिया जाएगा, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और वेतन में बढ़ोतरी होगी।

ग्रेच्युटी का लाभ

नई नीति के अनुसार, संविदा कर्मचारियों को भी ग्रेच्युटी का लाभ मिलेगा। पहले संविदा कर्मचारियों को हर 3 साल में अनुबंध करना होता था, लेकिन अब यह आवश्यकता समाप्त कर दी गई है। अब एक बार अनुबंध होने पर, संविदा शर्तों पर नए सिरे से अनुबंध की जरूरत नहीं होगी। इस बदलाव से संविदा कर्मचारियों को नौकरी की सुरक्षा और स्थिरता मिलेगी।

भर्ती प्रक्रिया में सुधार

नियमित पदों के लिए पहले जो भर्ती की जाती थी, उसमें 25 से 40% संविदा कर्मचारियों के लिए आरक्षण था। इस आरक्षण को बढ़ाकर अब 50% कर दिया गया है। इससे संविदा कर्मचारियों के नियमित पदों पर स्थाई होने की संभावना बढ़ेगी और वे अपने करियर में उन्नति कर सकेंगे।

मूल्यांकन और प्रमोशन की व्यवस्था

संविदा कर्मचारियों के लिए हर साल मूल्यांकन की व्यवस्था भी लागू की जाएगी। इससे कर्मचारियों की प्रदर्शन की समीक्षा होगी और उन्हें उनके कार्य के अनुसार प्रमोशन और वेतन में बढ़ोतरी मिलेगी। यह प्रक्रिया कर्मचारियों के मनोबल को बढ़ाने और उनकी कार्यक्षमता को सुधारने में मदद करेगी।

EPF का लाभ

संविदा कर्मचारियों के लिए एक और खुशखबरी है कि उन्हें अब रिटायरमेंट की चिंता नहीं करनी पड़ेगी। राज्य सरकार ने फैसला किया है कि संविदा कर्मचारियों को अब EPF (Employees’ Provident Fund) का लाभ भी मिलेगा। इससे उनकी रिटायरमेंट के बाद की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और उन्हें आर्थिक सुरक्षा मिलेगी।

नई नीति का व्यापक प्रभाव

मध्य प्रदेश के ऊर्जा क्षेत्र के संविदा कर्मचारियों को इस नई नीति से बड़ा लाभ मिलेगा। यह नीति संविदा कर्मचारियों के वेतन, भत्ते, ग्रेच्युटी, और अन्य सुविधाओं में सुधार करेगी, जिससे उनकी आर्थिक और नौकरी की स्थिति में स्थिरता आएगी। संविदा कर्मचारियों को अब नियमित कर्मचारियों के समान सभी सुविधाएं मिलेंगी, जिससे उनका मनोबल बढ़ेगा और वे अपने कार्य में और अधिक समर्पित होंगे।

निष्कर्ष

संविधान नीति 2023 के लागू होने से संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों की तरह सभी सुविधाएं मिलेंगी। इससे न केवल उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा, बल्कि उन्हें नौकरी की सुरक्षा और स्थिरता भी मिलेगी। यह नीति संविदा कर्मचारियों के जीवन में एक महत्वपूर्ण बदलाव लाएगी और उनके करियर में नई उन्नति के द्वार खोलेगी।

Leave a Comment