हेड कांस्टेबल कैसे बनें? योग्यता, प्रक्रिया और सैलरी की ले पूरी जानकारी 

हमारे देश में ऐसे बहुत लोग है, जो देश सेवा में खुद को समर्पित करना चाहते है। वहीं कुछ ऐसे लोग भी है, जिन्हें सरकारी नौकरी की चाह रहती है। यदि आप इन दोनों में है, तो आपको पुलिस विभाग में जाना चाहिए। अगर आपने अभी अभी 12th पास किया है, तो आप पुलिस हेड कांस्टेबल के लिए आवेदन दे सकते है। आज हम आपको बताएंगे कि हेड कांस्टेबल कैसे बनें, इसके लिए क्या योग्यता चाहिए।भर्ती होने की पूरी प्रक्रिया क्या है और सैलरी कितनी मिलती है, इन सभी के बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे। 

हालांकि, पुलिस विभाग में अनेकों पद होते है लेकिन उनके लिए अलग अलग शैक्षणिक योग्यता भी चाहिए होती है। आज के इस लेख में हम इंटरमीडिएट की परीक्षा लिख चुके कैंडिडेट के लिए प्रमुख हवलदार के बारे में बताने वाले है। यदि आपको पूरी जानकारी प्राप्त करनी है, तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

हेड कांस्टेबल क्या होता है?

हेड कांस्टेबल पुलिस विभाग का नेता होता है। उनके कंधों पर तीन पट्टियां होती हैं। यह थाने के लिए अग्रणी कांस्टेबल होता है। हवलदारों को मार्गदर्शन करने में सहायक होता है। पुलिसकर्मियों को उत्तरदाता रूप से देखता है। कांस्टेबलों की कार्यों को संचालित करता है।

इसका पहचान संकेत है कि यह प्रमुख हवलदार है। थाने में नौकरी करने वालों का मार्गदर्शन करता है। हेड कांस्टेबल थाना स्तर पर कमांड करता है। यह कार्यक्षेत्र में अनुभवी होता है। उन्हें पुलिस टीम का नेतृत्व करने का क्षमता होता है। हेड कांस्टेबल और अन्य पुलिसकर्मियों के बीच संवाद सुनिश्चित करता है।

हेड कांस्टेबल के क्या क्या कार्य होते है?

  • हेड कांस्टेबल बड़े ऑफिसर्स की सहायता करता है और नीचे पोस्ट वालों का नेतृत्व करता है।
  • रिपोर्ट लिखना और फाइल को सुरक्षित रखना उनका मुख्य कार्य होता है।
  • घटित होने वाली घटनाओं पर नजर रखना भी उनकी जिम्मेवारी होती है।
  • लड़ाई झगड़ा सुलझाने में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान होता है।
  • अन्य पुलिसकर्मियों के केस को हल करना भी उनका कार्य है।
  • थाने में रिपोर्ट लाना और कोर्ट को रिपोर्ट सौंपना भी उनकी जिम्मेवारी है।
  • ऑफिशियल नोटिस निकालना भी उनका कार्य होता है।
  • आपातकालीन स्थितियों में शांति बनाए रखना उनका कार्य है।
  • तंत्र-मंत्र समझने वाला होता है जो कानूनी मामलों में सहायक होता है।
  • अपने क्षेत्र में सुरक्षित रहने के लिए प्रबंधन करना उनका दायित्व है।
  • परिचय जारी करने और नए पुलिसकर्मियों को शिक्षित करने में मदद करना।
  • गवाहों की बचाव में सक्रिय रूप से भाग लेना।
  • सामाजिक समस्याओं का समाधान करने में सहायक होना।
  • अपराधिक मामलों में त्वरित क्रियाशीलता बनाए रखना।
  • पुलिस स्थायी शांति और कानूनी क्रियावली की सुरक्षा करना।

ये भी अवश्य पढ़ें:

Head Constable बनने के लिए क्या योग्यता चाहिए?

Head Constable बनने के लिए आपके पास शैक्षणिक और शारीरिक योग्यता होनी चाहिए। यदि आप इसकी मांग के अनुसार योग्य है, तो आप इस परीक्षा के लिए आवेदन दे सकते है। आइए, जानते है एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में। 

शैक्षणिक योग्यता

  • 12वीं या इंटरमीडिएट पास करना आवश्यक है।
  • साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स में पढ़ाई कर सकते हैं।
  • हिंदी, इंग्लिश में टाइपिंग आनिवार्य है।
  • हेड कांस्टेबल बनने के लिए योग्यता महत्वपूर्ण है।
  • 12वीं क्लास में पढ़ाई करने के लिए विषय विचारें।
  • अपनी योग्यता को सुनिश्चित करें और तैयारी में जुट जाएं।

शारीरिक योग्यता

  • अपनी हाइट की जांच करें, सामान्य पुरुषों के लिए 168 सेंटीमीटर और अनुसूचित जनजाति के लिए 160 सेंटीमीटर।
  • पुरुषों की छाती का माप करें, अनारक्षित के लिए 83 सेंटीमीटर से 87 सेंटीमीटर तक।
  • आरक्षित वर्गों के लिए 81 सेंटीमीटर से 85 सेंटीमीटर तक।
  • महिलाओं की हाइट, सामान्य वर्ग के लिए 160 सेंटीमीटर और आरक्षित वर्ग के लिए 157 सेंटीमीटर।
  • आपकी उम्र सीमा 18 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • हाइट और छाती माप के अनुसार योग्यता निर्धारित होगी।
  • सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग पुरुषों के लिए निर्धारित हैं स्त्री पुरुषों की हाइट की शर्तें।
  • आरक्षित वर्गों के लिए अलग-अलग छाती मापों की आवश्यकता है।
  • शारीरिक सामर्थ्य और आयु सीमा में रहना आवश्यक है।
  • योग्यता के लिए सभी निर्धारित मापदंडों को पूरा करना आवश्यक है।
  • समझें कि योग्यता में शारीरिक मापदंड एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Head Constable कैसे बनें? जाने पूरी प्रक्रिया

हालांकि, हर राज्य की अपनी अपनी अलग प्रक्रिया होती है। लेकिन ऐसी कई स्टेप है, जो एक समान ही होती है। हम आपको केंद्र स्तरीय पर लिए जाने वाले एग्जाम के बारे में बताने वाले है। इसके लिए विभिन्न चरणों को पूर्ण करना होता है, आइए एक एक करके सभी के बारे में पढ़ते है। 

1. एप्लीकेशन प्रोसेस

  • परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदन पहले करें।
  • ऑनलाइन या ऑफलाइन, दोनों से आवेदन करें।
  • प्रतिदिन ऑफिशियल साइट या अखबारों की नज़र रखें।
  • विज्ञापन से परीक्षा की जानकारी प्राप्त करें।
  • आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज़ संग्रहित करें।
  • फॉर्म भरते समय वंचिति से बचें।
  • योग्यता और अन्य विवरणों को सही रूप से पूरा करें।

2. ऑब्जेक्टिव एग्जाम

  • फॉर्म भरने के बाद, अंतिम तिथि के बाद एग्जाम डेट तय होती है।
  • एडमिट कार्ड पर सेंटर का पता और समय होता है।
  • लिखित परीक्षा में 100 ऑब्जेक्टिव सवाल होते हैं।
  • प्रति सवाल के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है।
  • उत्तर ओएमआर शीट पर देने होते हैं।
  • गलत जवाब पर 0.15 अंक काटे जाते हैं।
  • परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी होती है।
  • यह परीक्षा ऑब्जेक्टिव होने के बावजूद लिखित है।

3. फिजिकल टेस्ट

  • परीक्षा के परिणामों से मेरिट लिस्ट बनती है, जिसमें चयनित छात्रों को फिजिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है।
  • छात्रों को कुछ किलोमीटर दूर स्थित स्थान तक एक समय में पहुंचना होता है।
  • टेस्ट के दौरान उनकी हाइट नापी जाती है, जो हर वर्ग के लिए विभिन्न होती है।
  • सफल अभ्यर्थियों को अगले चरण के लिए कॉल किया जाता है।
  • इस प्रक्रिया के बाद चयनित छात्रों को अगले चरण के लिए बुलाया जाता है।
  • सफलता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को आगे की प्रक्रिया में भाग लेने का अवसर मिलता है।

4. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन

  • एप्लीकेशन फॉर्म भरने पर वेरिफाई करने के लिए टीम तैयार की जाती है।
  • पेपरों की असली कॉपी की जाँच होती है, गलती से न बनाएं।
  • सभी प्रमाण पत्र सही होने पर ही आगे का प्रोसेस शुरू होता है।
  • फर्जी पेपरों से बचने के लिए सावधान रहें, पकड़ा जा सकता है।
  • ऐसी गलती से जेल जाने से बचें, सत्य का पालन करें।

5. मेडिकल एग्जामिनेशन

  • मेडिकल एग्जाम से पहले सभी शारीरिक परीक्षण होते हैं।
  • चश्मा पहने तो विजन 6/6 होना अत्यंत आवश्यक है।
  • फिजिकली चैलेंज सेक्शन की पुष्टि मेडिकल चेकअप से होती है।
  • सभी शरीरिक पैरामीटर्स सही होने पर ही आगे की ट्रेनिंग होती है।
  • ट्रेनिंग पूरी होने के बाद व्यक्ति अपने स्थान पर नियुक्त होता है।
  • ट्रेनिंग के बाद विभिन्न पुलिस स्टेशनों में नौकरी मिलती है।
  • सफलता के बाद, पुलिस सेवा में सेवा करने का सौभाग्य मिलता है।

Head Constable परीक्षा का सिलेबस

एग्जाम की प्रक्रिया के बारे में तो आपने जान लिए, लेकिन आपको पढ़ना क्या है, इसके बारे में भी जानकारी प्राप्त कर ले। आपको अलग अलग विषय पढ़ने होते है, जिसमें गणित, कंप्यूटर, रीजनिंग, फिजिक्स, केमिस्ट्री, सामान्य अध्ययन, शामिल रहते है। सबके बारे में एक एक करके बताते है। 

गणित: इसमें आपको सबसे अधिक पढ़ना पड़ता है, नंबर सिस्टम, प्रतिशत, सामान्य ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज, लाभ और हानि, डिस्काउंट, अलजेब्रा, ज्योमेट्री, मापन, समय, दूरी और चाल, समय और कार्य, Ratio, औसत, ट्रिगोमेंट्री, डेटा इंटरप्रेटेशन, सीक्वेंस और सीरीज, Permutation and Combinations, Simplification की तैयारी करें। 

कंप्यूटर:बेसिक कंप्यूटर, शॉर्टकट, MS word, वर्ड प्रोसेसिंग, एक्सेल और कम्युनिकेशन जैसे टॉपिक की तैयारी इसके लिए करनी होगी। 

रीजनिंग: नॉन वर्बल रीजनिंग, एनालॉजी, alphanumberic सीरीज, नंबर सीरीज, क्रिटिकल थिंकिंग, लॉजिकल रीजनिंग, इनपुट-आउटपुट, ब्लड रिलेशन, टेबल, डायरेक्शन, वेन डायग्राम, सीटिंग अरेंजमेंट, कोडिंग और डिकोडिंग, इनिक्वालिटी, डेटा हैंडलिंग, आदि के बारे पढ़ना होगा। 

फिजिक्स: इस विषय में आपको न्यूटन नियम, ग्रैविटी, मोशन, प्रेशर, यूनिट और मेजरमेंट, थर्मोडायनेमिक, इलेक्ट्रॉनिक, मैग्नेटिज्म, नंबर सिस्टम, फाइबर ऑप्टिक, मोड ऑफ कम्युनिकेशन, ओम का नियम और ताप, इत्यादि के बारे में पढ़ें। 

केमिस्ट्री: यहां आपको केमिकल रिएक्शन, कमर्शियल एप्लीकेशन ऑफ केमिस्ट्री, केमिकल और फिजिकल चेंज, अम्ल, एटॉमिक नंबर, एलिमेंट्स और उनके सिंबल्स, electrochemistry, सामान्य उपयुक्त रसायन, महत्वपूर्ण कैटलिस्ट, हमारे जीवन में रसायन, आदि के बारे में पढ़ना है। 

सामान्य अध्ययन: पर्यावरण, भारत और पड़ोसी देश, भूगोल, भारतीय अर्थव्यवस्था, इतिहास, कला और संस्कृति, राजनीति विज्ञान, भारतीय संविधान, जैसे टॉपिक को पढ़ना है। 

हेड कांस्टेबल की सैलरी कितनी होती है?

  • सरकारी कर्मचारी को हर महीने 21,000 से 40,000 तक सैलरी मिलती है।
  • उनका ग्रेड पे 2000 होता है, जिससे सैलरी में बढ़ोतरी होती है।
  • उन्हें अन्य भते भी मिलते हैं, जो उनकी सुविधा को बढ़ाते हैं।
  • सरकारी कर्मचारी को समय से समय पर सैलरी दी जाती है।
  • इसके अलावा, उन्हें कई अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाती हैं।
  • सैलरी का वृद्धि होने से कर्मचारी को आर्थिक सुरक्षा मिलती है।
  • हेड कांस्टेबल के पद पर होने से कर्मचारी को गर्व का अहसास होता है।

हेड कांस्टेबल बनने के लिए तैयारी कैसे करें? फॉलो करें टिप्स

यदि आपने मन बना लिया है कि आपको हेड कांस्टेबल ही बनना है, तो आपको इसके लिए खास तैयारी भी करनी होगी। आपसे हम कुछ आसान से टिप्स शेयर करेंगे, जिनकी मदद से इस परीक्षा में आप सफलता पा लेंगे। 

  • सिलेबस को ध्यान से पढ़ें, विषय और पढ़ाई का सामग्री समझें।
  • उसी के अनुसार बुक्स खरीदें, टीचर से मदद लें।
  • यूट्यूब पर मुफ्त क्लासें देखें, नोट्स बनाएं।
  • स्तर के हिसाब से रूटीन बनाएं, टारगेट सेट करें।
  • शांत जगह पर पढ़ाई करें, लाइब्रेरी ज्वाइन करें।
  • फिजिकल एक्टिविटी शामिल करें, दौड़ें और कसरतें करें।
  • प्रैक्टिस से समय के अंदर दूरी तय करने की कठिनाई को कम करें।
  • रिवीजन के लिए महत्वपूर्ण टॉपिक्स को बार-बार पढ़ें।
  • रोज़ अपने लक्ष्यों के प्रति प्रतिबद्ध रहें।
  • पढ़ाई के लिए निरंतर और शांत माहौल चुनें।
  • सीधे और संक्षेप में पढ़ाई का तरीका अपनाएं।

निष्कर्ष:- 

आपको पुलिस बनने के लिए सिर्फ एप्लिकेशन नहीं, मेहनत भी करनी होगी। हेड कांस्टेबल बनने के लिए निर्देशों को ध्यान से पालन करें। हेड कांस्टेबल का कार्य और नियुक्ति प्रक्रिया विवेचित हैं। सिलेबस की पूरी जानकारी से तैयारी में मदद मिलेगी।

आपके सवालों के लिए कमेंट बॉक्स का उपयोग करें। सरकारी नौकरी और बिजनेस के लिए हमारे साथ जुड़ें। सीखें कैसे तैयारी करें और सफलता प्राप्त करें। अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रतिबद्ध रहें। समर्पितता और मेहनत से ही सपनों को हकीकत में बदलें।

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

x